Home न्यूज सहारा हॉस्पिटल में प्रदर्शनी के जरिए बताए गए मोटा अनाज के फायदे

सहारा हॉस्पिटल में प्रदर्शनी के जरिए बताए गए मोटा अनाज के फायदे

57
0

न्यूट्रीशन माह के अवसर पर लगी श्रीअन्न (मिलेट्स) की प्रदर्शनी

लखनऊ : सहारा हॉस्पिटल में गत दिवस न्यूट्रीशन माह के अवसर पर श्रीअन्न (मिलेट्स) की प्रदर्शनी लगायी गयी जिसके जरिए मोटे अनाज के फायदे बताए गए। “मिलेट्स: मोटा अनाज खाएं और रोगों को दूर भगाएं” के शीर्षक से आयोजित प्रदर्शनी की थीम थी कि ‘सुपोषित भारत, साक्षर भारत, सशक्त भारत, स्वस्थ संतुलित हो आहार, ऊर्जा दे शरीर को अपार”।
सहारा इंडिया परिवार के सीनियर एडवाइजर अनिल विक्रम सिंह ने फीता काटकर प्रदर्शनी का उद्घाटन किया। प्रदर्शनी में चीफ डायटिशियन सुश्री धरती शाह ने ज्वार का इस्तेमाल करके गुजराती व्यंजन ‘हांडवा’ बनाया। इसके अलावा सीनियर डायटीशियन मोनालिसा बैनर्जी, एमन वकार,अंकिता शुक्ला, मान्या दुबे, संचिता त्रिपाठी और इंटर्न शिवांगी मिश्रा ने ज्वार, बाजरा, रागी, कंगनी, कोदो और सावां सहित अन्य प्रकार के मोटे अनाज से कटलेट, जो के‌ फरे, रागी के लड्डू, गुलगुले, मठरी और हलवा बनाए थे। नर्सिंग कालेज की छात्रों ने रंगोली की आकृति में मोटे अनाज से एक शैफ का निर्माण किया, जो लोगों के आकर्षण का केन्द्र बना।
चीफ डायटीशियन धरती शाह ने बताया कि ज्वार, बाजरा और रागी जैसे मोटे अनाज प्रोटीन, फाइबर, बी-विटामिंस और आयरन जैसे मिनरल्स से भरपूर होते हैं। ये अनाज ग्लूटन-फ्री सुपरफूड्स हैं, जो डाइबिटीज को कंट्रोल करने में मदद कर सकते हैं। उन्होंने बताया कि अगर आपको मोटा अनाज खाने की आदत नहीं है, तो मोटे अनाज के तौर पर रागी ,ज्वार, बाजार सभी प्रकार के मोटा अनाज को आप धीरे-धीरे अपने आहार में शामिल कर सकते हैं।
ज्वार एक ऐसा मोटा अनाज है जिसे पूरे साल आराम से खाया जा सकता है। ये प्रोटीन, आयरन, फाइबर से भरपूर होता है और बैड कोलेस्ट्रॉल को दूर रखने में मदद करता है।
रागी की तरह ही बाजरा भी एक गर्म मोटा अनाज है और इसका सेवन ज्यादातर सर्दियों में ही किया जाता है, परन्तु गर्मी में भी कई पेय पदार्थ के रूप में प्रयोग किया जा सकता है।

सहारा इंडिया परिवार के सीनियर एडवाइजर अनिल विक्रम विक्रम सिंह ने कहा कि हमारे मुख्य अभिभावक “सहाराश्री”जी के विजन को सार्थक करते हुए एक तरफ सहारा हॉस्पिटल में मरीजों का इलाज विश्वस्तरीय तकनीक से किया जाता है। इसके साथ ही मरीजों को सभी चिकित्सा सुविधाएं जहां एक ही छत के नीचे मिलती हैं, वहीं दूसरी तरफ लोगों को बीमारी से बचाव के लिए उक्त प्रदर्शनी जैसे आयोजन समय-समय पर‌ किए जाते हैं और नि:शुल्क चिकित्सा शिविर भी लगाए जाते हैं।
श्री सिंह ने बताया कि सहारा हॉस्पिटल में उपलब्ध आहार व‌ पोषण विभाग की टीम निरंतर अपने अनुभव व‌ कुशलता के साथ मरीजों‌ को उत्तम व पौष्टिक आहार की काउंसलिंग करके मरीजों को लाभान्वित कर रही है और कार्यक्रम के माध्यम से समय-समय पर जागरूकता भी प्रसारित कर रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here