Home न्यूज सखियों- सहेलियों ने अवधी होली नृत्य की मनोरम छटा बिखेरी

सखियों- सहेलियों ने अवधी होली नृत्य की मनोरम छटा बिखेरी

236
0

उड़ान होली रंग उत्सव 2022

लखनऊ , 15 मार्च 2022। ‘हरि धरे मुकुट खेले होली आज अवध में होली रे रसिया.. ‘ यह वह अवधी फाग के होली गीत थे, जिस पर सखियो और सहेलियों ने अवधी होली नृत्य प्रस्तुत कर सारे अवध को होली के रंग में रंग दिया। यह खुबसूरत मौका था आज उड़ान  संस्था के तत्वावधान में संस्था के फरीदी नगर स्थित प्रांगण में आयोजित उड़ान होली रंग उत्सव का।

ढोलक की थाप, मंजीरे और झांझर की झंकार पर महिलाओं ने सर्व प्रथम विघ्न विनाशक गणेश जी की स्तुति करके अपनी सुमधुर आवाज मे अपने अवधी पारंपरिक होली गीतों ‘हरि धरे मुकुट खेले होली आज अवध में होली रे रसिया’, ‘ रंगी सारी गुलाबी चुनरिया’, ‘राधा चकोरी कैसे खेल रही है होली’, ‘कहां जाओगे बांके बिहारी होली होगी हमारी तुम्हारी’,  ‘रंग डालो ना नंद के लाल’ पर सरिता सिंह के नृत्य निर्देशन मे आरती श्रीवास्तव, प्रियम पांडे, मोहिनी धपोला, सविता कनौजिया, भारती सिंह,  गिरीश गौतम, गीता सिंह, रिंकू सिंह, बीनू यादव, सुमन यादव, सरिता सिंह और सविता यादव ने रंग- गुलाल और फूलों से होली खेलते हुए आकर्षक होली नृत्य प्रस्तुत कर अवध को होली के रंग में रंग दिया।

सरिता सिंह के संयोजन मे अवधी लोक संगीत से परिपूर्ण इस प्रस्तुति के उपरान्त शिखा, नविता, प्रतिमा, स्वरा त्रिपाठी, नेहा तिवारी, अंजलि, दामिनी, पलक, शिल्पी, रोली जायसवाल, नीलम श्रीवास्तव, क्षमा, पूजा गुप्ता, अर्चना, निशा, स्वरूपा, रूबी, हेमलता, गुंजन वर्मा, प्रतिभा, रंजना, सरिता सिंह यादव, श्रद्धा, संगीता और राजश्री ने फूलो से होली खेलते हुए आज अवध में होली रे रसिया,  मेरो खोए गयो बाजू बंद रसिया होरी में, धीरे धीरे रंग लगाओ रे कान्हा मोरी चुनरी भीजत जाय और गोरी प्यारा लगे रे तोरा झंकार आ आज पर अवधी होली नृत्य प्रस्तुत कर सम्पूर्ण वातावरण को होली के रंग के मानिन्द सराबोर कर दिया।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here