Home न्यूज श्रद्धालुओं ने किए धूमावती माता के दर्शन

श्रद्धालुओं ने किए धूमावती माता के दर्शन

138
0

धीरेन्द्र श्रीवास्तव ब्यूरोचीफ सीतापुर

नैमिषारण्य, सीतापुर। विश्व विख्यात तीर्थ स्थित प्रसिद्ध कालीपीठ मंदिर में प्रातःकाल महंत भास्कर शास्त्री ने की माता की पूजा !

नैमिषारण्य (सीतापुर) शारदीय नवरात्र के शनिवार को कालीपीठ स्थित माता धूमावती के पट खोले गए और श्रद्धालुओं ने भक्ति और भावना के साथ माता के दर्शन कर काले तिल अर्पित किए।
विदित हो की नवरात्रि के दौरान कालीपीठ मंदिर में विशेष अनुष्ठान एवं पूजन का क्रम निरंतर चल रहा है एवं कालीपीठाधीश गोपाल शास्त्री ने बताया कि नवरात्रि में पड़ने वाले शनिवार के अलावा अन्य दिनों में माता धूमावती के दर्शन सम्भव नहीं हैं। प्रधान पुजारी ने बताया कि दस महाविद्याओं में उग्र देवी धूमावती का स्वरूप विधवा का है। कौवा इनका वाहन है। वह श्वेत वस्त्र धारण किये हुये हैं। खुले केस उनका रूप और विकराल बनाते हैं।
पुजारी ने बताया कि माँ का स्वरूप कितना ही उग्र क्यों न हो संतान के लिये वह हमेंशा कल्याण कारी होता है। छह माह में नवरात्रि के अवसर पर ही उनके दर्शन किये जाते हैं। दनके दर्शन कर अभीष्ट फल की प्राप्ति होती है। शनिवार को काले कपडे़ में काले तिल मां के चरणों में भेंट किये जाते हैं। मान्यता है कि सुहागिने माता के दर्शन नहीं करती हैं। ऐसा देवी के वैधव्य रूप के कारण है। वस्तुतः उनके इस रूप का कारण अलग है।
प्रातः काल 4 बजे माता धूमावती के पट खोले गए और आरती उतारी गई, इस दौरान श्रद्धालुओं ने देवी भजन गाकर माता को प्रसन्न कर आशीर्वाद प्राप्त किया, इस अवसर पर शुभेंदु पुजारी, गोविंद पुजारी ने दक्षिण मुखी मां काली समेत धूमावती माता की अराधना की माता के दर्शन को देर शाम तक श्रद्धालुओं का आना निरंतर जारी रहा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here