Home न्यूज शास्त्रीय रागो के गीतों संग राम वन्दन नृत्य नाटिका ने मंत्र मुग्ध...

शास्त्रीय रागो के गीतों संग राम वन्दन नृत्य नाटिका ने मंत्र मुग्ध किया 

88
0

चैती महोत्सव-2023 सातवीं संध्या 

लखनऊ, 28 मार्च 2023। तुलसी शोध संस्थान उ.प्र. के तत्वावधान में श्री रामलीला परिसर ऐशबाग में चल रहे भारतीय नववर्ष मेला एवं चैती महोत्सव-2023 की सातवीं संध्या में शास्त्रीय रागो के गीतों संग राम वन्दन नृत्य नाटिका ने मंत्र मुग्ध किया।

भारतीय नववर्ष मेला एवं चैती महोत्सव-2023 की सातवीं सांस्कृतिक सन्ध्या का शुभारम्भ रागों पर आधारित गीतों से हुआ। पराक्रम दि फ़्यूजन बैंड के कलाकारों अभिषेक श्रीवास्तव, आयुषी पांडेय और अजय चौहान ने सम्वेत स्वरों में आओगे जब तुम, ऐ री आली, पायल की झंकार, मोरे सैयां, केसरिया बालम और रंगी सारी सहित अन्य गीतों को सुना कर श्रोताओं को मंत्र मुग्ध कर दिया, जो विभिन्न शास्त्रीय रागों पर आधृत थे।

मन को मोह लेने वाली इस प्रस्तुति के उपरान्त

देवांशी तिवारी और आकृति भरद्वाज ने संयुक्त रूप से कथक नृत्य शैली में श्री राम चन्द्र कृपाल भजमन पर भावपूर्ण नृत्य कर दर्शकों को भगवान श्री राम की भक्ति के सागर में आकन्ठ डुबोया।

भगवान श्री राम के चरणों में समर्पित देवांशी और आकृति की अगली प्रस्तुति थी ठुमक चलत राम चन्द्र, जिस पर द्वय नृत्यांगनाओं ने भावपूर्ण अभिनय युक्त नृत्य की प्रस्तुति दी। भक्ति भावना से परिपूर्ण इस प्रस्तुति के बाद देवांशी और आकृति ने कथक के पारम्परिक स्वरूपों को भक्ति के साथ प्रस्तुत किया।

मन को मोह लेने वाली इस प्रस्तुति के उपरान्त नवकुल डांस एकेडमी के कलाकारों ने नवनीत के नृत्य निर्देशन में द्रोपदी चीर हरण नृत्य नाटिका को आकषर्क रूप से प्रस्तुत कर दर्शकों का दिल जीता।

दिल को जीत लेने वाली इस प्रस्तुति के उपरान्त भास्कर बोस के निर्देशन में नाटक भगत के वश में हैं भगवान का मंचन किया गया। सशक्त कथानक से परिपूर्ण नाटक में भाग लेने वाले कलाकार थे शंकर पाल, सैमुल, संजीत मंडल, प्रिंस, अपर्णा, प्रिया पांडेय व अन्य।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here