Home न्यूज लाल चंद मीना ने भारत के सैन्य अभियंता सेवा के महानिदेशक (कार्मिक)...

लाल चंद मीना ने भारत के सैन्य अभियंता सेवा के महानिदेशक (कार्मिक) का पदभार ग्रहण किया

83
0

नई दिल्ली । रक्षा मंत्रालय के अधीन सैन्य अभियंता सेवा में लाल चंद्र मीना ( आई. डी. एस. ई. ) को सैन्य अभियंता सेवा का महानिदेशक ( कार्मिक ) नियुक्त किया गया है । लाल चंद मीना ने आज MES हेड क्वार्टर कश्मीर हाउस में कार्यभार ग्रहण किया । एल.सी. मीना सैन्य अभियंता सेवा में भारतीय रक्षा अभियंता सेवा कैडर के अधिकारी हैं । मिलिट्री इंजीनियरिंग सर्विसेज रक्षा मंत्रालय के अंतर्गत निर्माण कार्यों को क्रियान्वित करती है । एल.सी.मीना ने इसके पहले अतिरिक्त महानिदेशक,पूर्वोत्तर गुवाहाटी, मुख्य अभियंता जबलपुर अंचल ,कमांडर वर्क्स इंजीनियर गोवा, दुर्ग अभियंता चेन्नई, नालंदा एवं जामनगर जैसे अन्य महत्वपूर्ण पदों पर भी काम किया है । इसके अतिरिक्त महानिदेशक, पूर्वोत्तर ,गुवाहाटी के रूप में अरुणाचल प्रदेश की तलहटी में उत्तर पूर्वी सीमा पर हो रहे सामरिक एवं कूटनीतिक रूप से महत्वपूर्ण निर्माण कार्यों को क्रियान्वित कराया है ।

मूलतः राजस्थान के झालावाड़ जिले के अकलेरा तहसील के बिंदा नामक गाँव के रहने वाले लाल चंद्र मीना ने जोधपुर स्थित M B M इंजीनियर कॉलेज से सिविल इंजीनियरिंग की परीक्षा पास की । आईआईटी मुंबई से स्ट्रक्चर्स विषय में एम.टेक. की भी डिग्री प्राप्त की है । एल.सी. मीना का चयन संघ लोक सेवा आयोग द्वारा संचालित प्रतिष्ठित भारतीय अभियंता सेवा परीक्षा के माध्यम से सैन्य अभियंता सेवा ( मिलिट्री इंजीनियर सर्विसेज ) में हुआ । इस अवसर पर एल.सी. मीना ने कहा कि “सैन्य अभियंता सेवा ( मिलिट्री इंजीनियर सर्विसेज ) निर्माण कार्यों की देश की अग्रणी संस्था में से एक है । यह रक्षा मंत्रालय के अधीन सेनाओं के लिए रनवे , हैंगर तथा अन्य जटिल संरचनाओं का निर्माण करती है , आने वाले समय में यह सेवा, देश सेवा में समर्पित होकर भारतीय सेनाओं के मानक व्यवस्थाओं के अनुसार निर्माण कार्यों को क्रियान्वित करती रहेगी”।

कार्यभार ग्रहण करने के बाद एल.सी. मीना ने विभाग में किए जाने वाले कामों की प्राथमिकताओं को बताते हुए कहा कि “उनका मकसद पोस्टिंग एवं ट्रांसफर में पारदर्शिता लाना रहेगा । कौन से काम के लिए कौन सा ऑफिसर बेहतर है , उसे ही उस जगह पर लगाया जाए” । उन्होंने यह भी कहा कि “अधिकारियों-कर्मचारियों की समय पर डीपीसी और प्रमोशन एक अच्छे वातावरण में कराया जाए साथ ही कार्यप्रणाली और भी बेहतर बनाने के लिए मेहनती ,कर्मठ और ईमानदार लोगों को ही मौका दिया जाए ” ।

गौरतलब है कि जब तत्कालीन प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेई ने सैनिकों के लिए बड़े पैमाने पर त्वरित ढंग से घर बनाने का आदेश दिया था,तब सैन्य अभियंता सेवा के अंतर्गत “मैरिड अकोमोडेशन प्रोजेक्ट” की शुरुआत की गई थी और एल.सी. मीना इस प्रोजेक्ट के डिजाइनर के रूप में अभिन्न अंग थे तथा इसे पूरा करने में बहुत ही महत्वपूर्ण योगदान दिया था ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here