Home न्यूज लकड़ी माफिया और वन विभाग की सांठ गांठ के चलते धार्मिक क्षेत्र...

लकड़ी माफिया और वन विभाग की सांठ गांठ के चलते धार्मिक क्षेत्र रेगिस्तान में हो रहा तब्दील

100
0

धीरेन्द्र श्रीवास्तव ब्यूरोचीफ सीतापुर
सीतापुर। वन रेंज कार्यालय मिश्रित के अंतर्गत ग्राम पंचायत बिठौली के मजरा मडा़री निवासी पंडित शिव प्रकाश अवस्थी के नहर के निकट स्थित बाग में खड़े पांच भारी-भरकम आम के पेड़ बीती रात ग्राम सेमरा निवासी गुड्डू व सहादत नगर निवासी एक ठेकेदार द्वारा बगैर परमिट कटा कर साफ कर दिया गया ।

उक्त कटान की सूचना पर मौके पर पहुंचे फारेस्टर समर सिंह ने इलाकाई फारेस्ट गार्ड जो पुतान नामक व्यक्ति का लड़का बताया जाता है । उसकी सांठ गांठ से कटान करा रहे ठेकेदारों से लंबी वसूली करके चले आए । मांमले में जब रेंजर दिनेश गुप्ता से बात की गई तो उन्होंने कहा कि मैं मौके की जांच करा कर कार्यवाही करता हूं । लेकिन क्षेत्रीय चर्चाओं के अनुसार जब भारी-भरकम 5 वृक्षों के कटान का सौदा फारेस्टर श्री सिंह द्वारा 15 हजार रुपए में कर लिया गया तो क्या होगी जांच और कार्यवाही ।

मांमले में गंभीर प्रश्न बना हुआ है । जब फारेस्टर से उक्त कटान के बाबत जानकारी चाही गई तो उसने बताया कि जुर्माना कर दिया गया है । जब यह पूंछा गया कि 5 वृक्षों पर कितना जुर्माना किया गया है । तो उसने दो टूक कहा कि मैं यह जानकारी नहीं बता सकता हूं । इसके अलावा पांच की जगह वह 3 पेड़ों के कटान का राग अलापता रहा । जबकि मौके पर पांच पेड़ों का कटान कराया गया है । जिनकी ताजी जड़ें देखी जा सकती हैं ।

सबसे अहम बात तो यह है । कि इस धार्मिक क्षेत्र के ग्राम मढ़िया , कोंच पुर , जसरथपुर पावर हाउस के निकट , , इमलिया आदि दर्जनों गांवों में फलदार व प्रतिबंधित प्रजाति के सैकड़ों हरे-भरे वृक्षों का कटान बिना परमिट के सीतापुर निवासी अजीम नामक ठेकेदार द्वारा कराया जा चुका है । परंतु वन विभाग की कार्यवाही पूरी तरह से सून्य बनी हुई है । जिससे इस धार्मिक क्षेत्र की हरियाली अधर में समांकर रह गई है । लकड़ी माफिया इस धार्मिक जमीं को रेगिस्तान बनाने पर तुले हुए हैं ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here