Home ब्लॉग रामलीला समिति महानगर के पारम्परिक होली गायन व नृत्य प्रस्तुति पर...

रामलीला समिति महानगर के पारम्परिक होली गायन व नृत्य प्रस्तुति पर दर्शक भी झूमे

255
0

लखनऊ। रामलीला समिति महानगर मे महिला व पुरूष होलियारों द्वारा आलू गुटुक के संग उत्तराखंड की सुंदर बैठकी व खड़ी होली कार्यक्रम में उत्तराखण्ड, अवध, ब्रज के ग्रामीण व सुदूर अंचल की होली का उल्लड, उमंग, उल्लास, आनन्द की ह्रदयस्पर्शी अनुभूति दर्शकों ने महसूस की।
महानगर में आयोजित होली गायन व नृत्य कार्यक्रम की शुरुआत गणेश की होली गायन से हुई स्वर कोकिला विमल पंत ने प्रीति नहीं पहचानेमोरे श्याम व बिरजू में होली खेलें रंग भीजे श्याम गाया।समिति के महासचिव हेम पन्त ने धन्यवाद ज्ञापित किया। समिति के देवेन्द्र मिश्रा,दीनू पाण्डे,तारा चंद जयसवाल, पियूष पाण्डे आदि उपस्थित रहे।होली गायन में भारतीय पर्वतीय महासभा के राष्ट्रीय मुख्य संरक्षक आदरणीय पान सिंह भंडारी , मुख्य संयोजक श्री ललित मोहन जोशी, उपाध्यक्ष श्री डीके डालाकोटी, महासचिव डॉ अनुपम सिंह भंडारी (अनुपम भैया), नरेंद्र फर्त्याल, हरीश उपाध्याय,कमल पंत, दिनेश उपरेती, अमित पांडे, मोहन सिंह बिष्ट ने कलाकारों का उत्साह वर्धन किया एवं गायन में सहभागिता की।
रामलीला समिति महिला प्रकोष्ठ की भावना रोहानी, हेमा जोशी,चित्रा पाण्डेय,इन्दु भट्ट,जया पाण्डे, रसना उप्रेती ने मृगनयनी नार नवेली हसीना व आयो ये आयो ये आयो ये फागुन आयो ये पर गीत तथा नृत्य की प्रस्तुति से उत्तराखंड की होली पूर्व की मस्ती में सबको होलीमय कर दिया। लक्ष्मी जोशी, अरूणा उपाध्याय, शारदा पाण्डे, राजेश्वरी व सरिता सनवाल ने होली खेल रहे नंदलाल,मोरी चुनरी में पड़ गयो दाग,बिरजू में पडत है आज गुलाल पर गीत व नृतृय से दर्शकों को भी होली नृत्य करने को मजबूर किया। भाषा पन्त, ने राधिका खेलें होली।ब्रज में मची,इसके अतिरिक्त तनु खुल्बे, भारती पाण्डे, हेमा जोशी,ज्योति रत्न,मोहिनी धपोला, रसना उप्रेती, जया पाण्डे,इन्दु भट्ट, सरोज खुल्बे, महेंद्र, वीरेंद्र जोशी, सुनीता विष्ट त्रिलोचन जोशी द्वारा अपने साथियों के साथ होली नृत्य व गायन की प्रस्तुति दी। तबले पर अनिल कुमार गोठिया,मृदु नन्दन सनवाल हारमोनियम पर ललित भट्ट ने संगत दिया।भारतीय पर्वतीय महासभा ने आगामी 17 मार्च दोपहर 2 से होली गायन का कार्यक्रम प्रधान कार्यालय पंतनगर कॉलोनी खुर्रम नगर में सुनिश्चित किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here