Home न्यूज राजनैतिक भागीदारी के लिए तैलिक समाज को संगठित और शिक्षित होना होगा...

राजनैतिक भागीदारी के लिए तैलिक समाज को संगठित और शिक्षित होना होगा : रामेश्वर तेली केन्द्रीय पेट्रोलियम राज्यमंत्री 

43
0

भारतीय तैलिक साहू राठौर महासभा की तैलिक महारैली

लखनऊ , 25 नवम्बर 2023। किसी समाज को आगे बढ़ाने के लिए उस समाज का शिक्षित होना बहुत आवश्यक है, यह बात आज भारतीय तैलिक साहू राठौर महासभा के तत्वावधान में रमाबाई अम्बेडकर मैदान में आयोजित तैलिक महारैली में मुख्य अतिथि के रूप में केन्द्रीय पेट्रोलियम राज्य मंत्री रामेश्वर तेली ने कही।

पेट्रोलियम राज्य मंत्री रामेश्वर तेली ने कहा कि पहले लोग उनसे, तेली नाम लगाने के बारें में सवाल किया करते थे, तो वह इस बारे में बताते थे कि उनके घर के आसपास तेल निकालने का करोबार बड़े पैमाने पर किया जाता है, इसलिए वह अपने नाम के आगे तेली लिखते हैं, इस पर उन्हें गर्व महसूस होता है।

उन्होने आगे कहा कि उनके समाज के लोग साहू, राठौर, गुप्ता जैसे उपनाम लगाते हैं, इसकी जगह उन्हे तेली शब्द का प्रयोग करना चाहिए। उन्होने रैली में तेली समाज से अपील की, कि वह अपने बच्चों को उच्च शिक्षा प्रदान कराए ताकि वह डॉक्टर, इन्जीनियर, आई ए एस, आई पी एस आदि उच्च अधिकारी बनकर अपने समाज का नाम रौशन कर सके, तभी तेली समाज की तरक्की होगी और वह आगे बढेंगे।

रामेश्वर तेली ने आगे कहा कि उत्तर प्रदेश में तेली समाज की अच्छी-खासी संख्या होने के बावजूद उसे उचित भागीदारी न मिलना, तेली समाज का संगठित न होना है। तेली समाज को एकजुट होकर अपनी ताकत प्रदर्शित करनी होगी। उन्होने प्रदेश के 65 जिलों में निकली साहू जन जागृति रथ यात्रा को तेली समाज की एकजुटता बताई।

भारतीय तैलिक साहू राठौर महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष/ राज्य सभा के पूर्व सांसद राम नरायन साहू ने तैलिक महारैली में कहा की तैलिक समाज के युवाओं को आगे आना होगा और संघर्ष करके अपनी क्षमता दिखानी होगी, जिससे वह अपना उचित हक लेकर अपनी राजनैतिक भागीदारी बढ़ा सके, इसके लिये तैलिक समाज की युवा शक्ति को संगठित होना होगा।

तैलिक महारैली में नगर विकास राज्य मंत्री राकेश राठौर गुरू ने कहा कि तैलिक समाज को सोचना होगा कि वह सक्षम होने के बावजूद अंतिम पायदान पर क्यों खड़ा है, क्योकि हमारा तैलिक समाज संगठित नही है, इसी वजह से सभी राजनैतिक दल तैलिक समाज का शोषण करते हैं। इस बार तैलिक समाज ने अपनी भौगोलिक परिस्थिति जानने के लिए पूरे प्रदेश में साहू जन जागृति रथ यात्रा निकाली, जिससे पता चलता है कि हमारी काफी तादाद है लेकिन संगठित न होने के कारण हमे कोई भी दल गंभीरता से स्वीकार नहीं कर रहा है, अगर हमे अपना हक पाना है, तो हमे अपनी ताकत प्रदर्शित करनी होगी। रैली में भारत के प्रधानमंत्री के अग्रज भ्राता सोमा भाई मोदी के प्रतिनिधि एन. टी. राठौर समाज सेवी गुजरात ने पूरे भारत में तैलिक समाज को एकजुट होने की अपील करते हुए कहा कि तेली समाज के संगठित न होने के कारण उसका अस्तित्व खोता जा रहा है, अगर भविष्य में में तेली समाज संगठित नही होगा तो लोग उसे भूल जायेंगे।

तैलिक महारैली में युवा प्रदेश अध्यक्ष रमाशंकर साहू ने कहा कि आज भाजपा कार्यकारिणी में एक भी तेली समाज का सदस्य नही है, इतना ही नहीं विपक्षी दलों की कार्यकारिणी में भी तैलिक समाज के सदस्यों को अहमियत नही दी जाती है, कम से कम टाऊन एरिया में एक-एक तैलिक समाज का नामित पार्षद होना चाहिए। तैलिक महारैली में उमेश नंदलाल साहू नागपुर महाराष्ट्र राष्ट्रीय अध्यक्ष भारतीय सैनिक साहू राठौर महासभा, रवि किशन साहू अध्यक्ष तेल घानी बोर्ड मध्य प्रदेश सरकार, संगम लाल गुप्ता सांसद प्रतापगढ़, जगदीश प्रसाद साहू रथ यात्रा संयोजक, डॉक्टर नीता साहू महिला प्रदेश अध्यक्ष सहित लाखों की संख्या में प्रदेश के सुदूर्वर्ती जिलों से आए तैलिक समाज के लोग उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here