Home न्यूज भारत को विश्व गुरू बनाने के लिए कुलपतियों व छात्रों को कैम्पस...

भारत को विश्व गुरू बनाने के लिए कुलपतियों व छात्रों को कैम्पस से बाहर आना होगा : राज्यपाल आनन्दी बेन पटेल

116
0

राज्यपाल ने किया रामजी लाल अग्रवाल की प्रतिमा का अनावरण
गोयल ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशंस का 16वां स्थापना दिवस समारोह
लखनऊ, 4 जुलाई 2023। तकनीकी और व्यवसायिक शिक्षा के क्षेत्र में अग्रणी शिक्षण संस्थान

गोयल ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशंस लखनऊ के 16वें स्थापना दिवस समारोह के अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनन्दीबेन पटेल ने विश्वविद्यालय के कुलपतियों से अपील की, कि यदि भारत को विश्व गुरु बनाना है, तो उन्हें संकल्प लेना होगा कि वे महज कैम्पस तक सीमित न रहकर गांवों तक जाएंगे और इन्टर कालेज के बच्चों को कैम्पस में बुलाकर उच्च शिक्षा के लिए प्रेरित करेंगे।

महामहिम राज्यपाल ने कहा कि आज संस्कार, शिक्षा के साथ न मिलने का कारण ये है कि वेद-पुराण से जुड़ी ज्ञान की बातें, सिर्फ प्राइमरी तक पढ़ाई जाती हैं और बाद में हम अंग्रेजी माध्यम की पढ़ाई कराने लगते हैं, जो रटने जैसी होती है, जब कि मातृभाषा हिन्दी में समझ में आती है। हमारी नेशनल एजुकेशन पॉलिसी में साफ कहा गया है कि पढ़ाई हिन्दी या स्थानीय मातृभाषा में होनी चाहिए जो स्वयं समझ में आने वाली होगी।

उन्होने कहा कि हमें शिक्षा में परिवर्तन करना होगा। छठी से बच्चों को उद्योगों की जानकारी देनी होगी, जिससे इन्टर तक पहुँचते-पहुँचते अध्यापक बच्चे की रुचि के अनुसार उसे तैयार कर सकेंगे, अन्यथा बच्चे बिना रुचि का विषय ले लेते हैं और फेल हो जाते हैं। महामहिम ने आगे कहा कि विश्वविद्यालय के कुलपतियों को कैम्पस से छात्रों को बाहर निकालकर गांव से परिचित कराना होगा, नैक ग्रेडिंग पर ध्यान देना होगा तभी उच्च शिक्षा की गुणवत्ता बढ़ेगी। राज्यपाल ने विश्वविद्यालय के कुलपतियों से अपील करते हुए कहा कि विश्वविद्यालयों और महाविद्यालयों में ड्रेस और प्रार्थना जरूर होनी चाहिए।

इसके पूर्व आज प्रात: राज्यपाल आनन्दी बेन पटेल ने गोयल ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशंस के स्थापना दिवस के मौके पर इं. महेश कुमार अग्रवाल (गोयल) के पिता स्व: रामजी लाल अग्रवाल की प्रतिमा का अनावरण गोयल इंस्टीट्यूशंस के प्रांगण में किया। इस अवसर पर राज्यपाल ने पौधारोपण के साथ आंगनबाड़ी सदस्यों को किट का वितरण भी किया।

इस अवसर पर उपमुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश सरकार बृजेश पाठक ने अपने सम्बोधन में कहा कि वर्ष 2017 से पहले कालेजों और विश्वविद्यालयों में नैक ग्रेडिंग की कोई रुचि ही नहीं थी और आज महामहिम राज्यपाल के प्रयास से ग्रेडिंग के कारण उच्च शिक्षा में काफी सुधार आया है। इतना ही नहीं आंगनबाड़ी केन्द्रों का विकास भी महामहिम के मार्गदर्शन में हो रहा है।
इससे पूर्व एकेटीयू के कुलपति जे.पी.पाण्डेय और लखनऊ विश्वविद्यालय के कुलपति आलोक राय ने महामहिम राज्यपाल के मार्गदर्शन में उच्च शिक्षा के क्षेत्र में विकास और प्रगति के लिए आभार जताया।
समारोह में गोयल समूह के अध्यक्ष महेश कुमार अग्रवाल ने कहा कि संस्थान के 16वें स्थापना दिवस पर अपने प्रांगण में अपने पिता स्व: रामजी लाल अग्रवाल की प्रतिमा का अनावरण होना अपने आप मे गौरव और ऐतिहासिक क्षण है। उन्होने कहा कि इस वर्ष पूरा क्षैणिक सत्र स्व: रामजी लाल अग्रवाल जन्म शताब्दी समारोह के रूप में मनाया जाएगा। श्री रामजी लाल अग्रवाल का जन्म 31 मार्च 1923 को हुआ था।
महेश कुमार अग्रवाल ने बताया कि गोयल ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशंस ग्रामीण और शहरी क्षेत्र के छात्र- छात्राओं को इंजीनियरिंग, फार्मेसी, प्रबंधन, कंप्यूटर अनुप्रयोग, ललित कला, आयुर्वेद, स्कूली शिक्षा विगत 15 वर्षों से प्रदान कर रहा है। परिसर में नैक मान्यता प्राप्त कॉलेज है, एनबीए मान्यता प्राप्त कार्यक्रम, शीर्ष 100 एनआईआरएफ रैंकिंग नवाचार श्रेणी में हैं और गोयल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नालॉजी एण्ड मैनेजमेंट को आईआईसी शिक्षा मंत्रालय द्वारा 4 स्टार रेटिंग दी गई है।
स्वागत भाषण डॉ आलोक जैन, धन्यवाद ज्ञापन महेश कुमार अग्रवाल और कार्यक्रम का संचालन डॉ अनीता सहगल वसुंधरा ने किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here