Home न्यूज भारतीय नववर्ष मेला एवं चैती महोत्सव -2023 आज से

भारतीय नववर्ष मेला एवं चैती महोत्सव -2023 आज से

91
0

लखनऊ , 21 मार्च 2023। तुलसी शोध संस्थान उ.प्र. लखनऊ के तत्वावधान में आगामी 22 मार्च से 31 मार्च 2023 तक ऐशबाग रामलीला मैदान में दस दिवसीय भारतीय नववर्ष मेला एवं चैती महोत्सव -2023 का आयोजन किया जायेगा। इस बात की जानकारी कार्यक्रम संयोजक द्वय पं. आदित्य द्विवेदी और हरीश चन्द्र अग्रवाल ने संयुक्त रूप से आज तुलसी सभागार में आयोजित एक प्रेस वार्ता में दी।

आदित्य द्विवेदी ने बताया कि भारतीय नववर्ष मेला एवं चैती महोत्सव-2023 का शुभारम्भ 22 मार्च से होगा, जिसकी शुरुआत सायंकाल 3 बजे से सुन्दर काण्ड पाठ से होगी, तत्पश्चात विक्की राज द्वारा नृत्य नाटिका (वर्वडान्स स्टूडियो), वर्णिका श्रीवास्तव के नृत्य निर्देशन में दुर्गा स्तुति (स्वरधारा म्यूजिक एण्ड डान्स एकेडमी), अलका पांडेय के नृत्य निर्देशन में नृत्य नाटिका (ए.डी. डान्स एण्ड म्यूजिक क्लासेज) और कोलकता के भास्कर बोस द्वारा सत्यवान सावित्री नाटक का मंचन होगा।

इसी प्रकार 23 मार्च को रिचा तिवारी के नृत्य निर्देशन में नृत्योत्सव (धावनी फाउण्डेशन), आरती शुक्ला के नृत्य निर्देशन में नृत्यावल (आंचल समाज उत्थान सेवा समिति), पूजा पांडेय के निर्देशन में लोक संगीत, लोक नृत्य, मयूर नृत्य और भास्कर बोस के निर्देशन में राजा दुष्यन्त एवं शकुन्तला पर आधारित नाटक का मंचन किया जाएगा।

24 मार्च को हर्षित चौहान द्वारा नृत्य नाटिका (फस्ट मूव डान्स स्टूडियो), शैलेन्द्र सक्सेना के नृत्य निर्देशन में लोक नृत्य माला (सुरभि कल्चरल डान्स एकेडमी), कुसुम वर्मा का लोक गायन एवं लोक नृत्य एवं भास्कर बोस के निर्देशन में मार्कण्डे महादेव नाटक का मंचन होगा।

इसी प्रकार 25 मार्च को निशी मिश्रा के नृत्य निर्देशन में विविध नृत्य माला (नृत्यधाम डांस एकेडमी), शमशुर्रहमान नवेद के नृत्य निर्देशन में कृष्णामृत नृत्य नाटिका (स्वर्ण हंस नृत्य कला मंदिर ), संध्या मिश्रा व सोमनाथ का लोक गायन व उप-शास्त्रीय गायन, भास्कर बोस के निर्देशन में भगवान परशुराम चरित्र भाग 1 नाटक का मंचन किया जाएगा।

आदित्य द्विवेदी ने बताया की इसी क्रम में 26 मार्च को अमित कुमार शर्मा के निर्देशन में नृत्य नाटिका (सृजन डान्स परफार्मिंग आर्ट), राघवेन्द्र प्रताप सिंह के निर्देशन में  नृत्य नाटिका नमामि रामम् (श्रृंगारी नृत्य समूह), रीना टंडन व रंजना मिश्रा के निर्देशन में

संस्कार नृत्य एवं गायन (गौरइया संस्थान) और भास्कर बोस द्वारा निर्देशित भगवान परशुराम चरित्र नाटक भाग-2 का मंचन होगा।

हरीश चन्द्र अग्रवाल ने बताया कि 27 मार्च को अंकिता बाजपेयी का पारम्परिक नृत्य, आकांक्षा श्रीवास्तव का कथक नृत्य माला (पद्मजा कला संस्थान), सरिता सिंह के नृत्य निर्देशन में संस्कार नृत्य, लोक नृत्य, लोक गायन (उड़ान डान्स एकेडमी) और भास्कर बोस के निर्देशन में नेता जी सुभाष चन्द्र बोस नाटक का मंचन किया जाएगा।

इसी प्रकार 28 मार्च को नवनीत के निर्देशन में

द्रोपदी चीर हरण नृत्यनाटिका (नवकुल डान्स एकेडमी), आकृति भरद्वाज, देवांशी तिवारी, काव्या राजपाल का राम वन्दनम् नृत्य नाटिका, अभिषेक श्रीवास्तव, अजय चौहान, आयुषी पाण्डेय का पराक्रम दि फ्यूजन बैण्ड एवं भास्कर बोस के निर्देशन में

भगत के वश में हैं भगवान नाटक का मंचन किया जाएगा।

हरीश चन्द्र अग्रवाल ने बताया कि 29 मार्च को मंदाकिनी के निर्देशन में नृत्य नाटिका (हार्ट एण्ड सोल डान्स एकेडमी), सरिता श्रीवास्तव की परिकल्पना में कथक नृत्य माला, अमृत सिन्हा के नृत्य निर्देशन में भरतनाट्यम (रिदम डिवाइन डान्स सेन्टर) और भास्कर बोस के निर्देशन में भारतीय संस्कृति पर आधारित विविध रंगमाला की प्रस्तुति होगी।

श्री अग्रवाल ने आगे बताया कि समारोहों की श्रृंखला में ‘भए प्रगट कृपाला…’ शीर्षक से भव्य श्रीराम जन्मोत्सव का आयोजन 30 और 31 मार्च को किया जाएगा, जिसके अन्तर्गत 30 मार्च को प्रभु श्रीराम पर आधारित स्थानीय कलाकारों द्वारा स्तुुति नृत्य, जन्म संस्कार सम्बन्धित पारम्परिक गीत, श्रीराम की विविध लीलाओं का मंचन भास्कर बोस, कोलकाता के निर्देशन में किया जाएगा।

इसी प्रकार 31 मार्च को स्थानीय कलाकारों द्वारा

जन्म संस्कार सम्बन्धित नृत्य नाटिका, शीतला वर्मा अयोध्या द्वारा फरुवाही लोक नृत्य और वन्दना श्री मथुरा द्वारा लोक गायन एवं नृत्य विधाओं में श्रीराम की प्रस्तुति होगी। प्रेस वार्ता में प्रमोद अग्रवाल, मयंक रंजन और भास्कर बोस ने भी चैती महोत्सव के विविध रूपाकारों से अवगत कराया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here