Home न्यूज बालिका दिवस पर अंशिका त्यागी के नृत्य ने जगायी अलख

बालिका दिवस पर अंशिका त्यागी के नृत्य ने जगायी अलख

347
0

“बेटी का आदर और नारी का सम्मान करें”

“देश का अभिमान है बेटी” नृत्य प्रस्तुतियां रही प्रेरक

लखनऊ। राष्ट्रीय बालिका दिवस के अवसर पर लोकप्रिय बाल नृत्यांगना, प्रेरक वक्ता, मॉडल और अभिनेत्री अंशिका त्यागी ने अपने फेसबुक लिंक पर बेटियों की शान में प्रेरक नृत्य प्रस्तुतियां दी। सोमवार 24 जनवरी को इसका सजीव प्रसारण फेसबुक लिंक Rocking-Anshika-Dancer-Model-Actress-109141597493228/ पर किया गया।
गोमती नगर रेल विहार स्थित अंशिका के स्टूडियों में आयोजित इस कार्यक्रम का संचालन कर रही नव अंशिका फाउण्डेशन की अध्यक्षा नीशू मनोज ने बालिका दिवस के बारे में बताया कि राष्ट्रीय बालिका दिवस भारत में हर साल 24 जनवरी को मनाया जाता है। इसकी शुरुआत महिला एवं बाल विकास, भारत सरकार ने साल 2008 में की थी। दरअसल 24 जनवरी 1966 के दिन ही पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने “पहली भारतीय महिला प्रधानमंत्री” के रूप में कार्यभाल संभाला था। इसका उद्देश्य समाज में स्त्री-पुरुष की समानता लाने के प्रति जागरुक करना और बालिकाओं को शिक्षा, स्वास्थ्य और पोषण सम्बंधी उनके अधिकार दिलवाना है। इस उपलक्ष्य में इस साल भी वृहद आयोजन हो रहे हैं। जिसमें बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ थीम पर रंगोली प्रतियोगिता अहम् है। इसी कड़ी में लखनऊ निवासी मशहूर बाल नृत्यांगना, प्रेरक वक्ता, मॉडल और अभिनेत्री अंशिका त्यागी अपने नृत्य के माध्यम से शहर की दो हस्तियों को नमन अर्पित किया।
सबसे पहले अंशिका ने लखनऊ के मशहूर इतिहासकार योगेश प्रवीन की स्मृतियों को नमन करते हुए उनके लिखे प्रेरक बालिका गीत जिसे वरिष्ठ संगीतज्ञ केवल कुमार ने संगीतबद्ध किया है “आओ मिलकर उस महा शक्ति का ध्यान करें, बेटी का आदर और नारी का सम्मान करें” पर सुंदर नृत्य कर प्रशंसा हासिल की। इस कड़ी में उन्होंने लोकप्रिय गायिका संजोली पाण्डेय की रचना “आन बेटी शान बेटी देश का अभिमान है बेटी” पर भी प्रभावी नृत्य की प्रस्तुति दी। नीरज पाण्डेय के लिखे इस गीत को सचिन अमित ने संगीतबद्ध किया है।
बालिका दिवस की थीम पर आकर्षक रूप से सजे स्टूडियो में अंशिका ने बालिका दिवस पर लोगों को प्रेरित किया कि बालिका सम्मान वास्तव में केवल एक दिन नहीं बल्कि जीवन पर्यंत का संकल्प है। वर्तमान में शिक्षा, राष्ट्र सुरक्षा, खेल से लेकर अंतरिक्ष तक में भारतीय बेटियां, देश का नाम रोशन कर रही हैं। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि जिस देश में कन्याएं नवरात्र में देवी के रूप में पूजी जाती हैं वहां बेटियों को उनका अधिकार मिलना ही चाहिए। उन्हें अधिकार देकर वास्तव में हम अपने परिवार, समाज और राष्ट्र को ही सशक्त बनाएंगे। इस लाइव शो से शहर ही नहीं दूर दराज के कला के प्रशंसक भी जुड़े। विशेष रूप से नव-अंशिका फाउंडेशन के सचिव सतपाल सहित हेमलता, थिएटर एवं फिल्म वेलफेयर एसोशियेशन के सचिव डी.सिद्दीकी, रूपल मिश्रा, अनीता सिंह, निमिषा अवस्थी, श्वेता त्यागी, अमित, सुनीत मिश्रा, मनोज कुमार सहित अन्य ने अंशिका त्यागी के नृत्य की प्रशंसा की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here