Home क्राइम वॉच पूर्व डीआईजी जेल पी.के.मिश्रा की पत्नी भाजपा नेता हत्या के मामले में...

पूर्व डीआईजी जेल पी.के.मिश्रा की पत्नी भाजपा नेता हत्या के मामले में गिरफ्तार

134
0

रिटायर्ड डीआईजी पीके मिश्रा की पत्नी अलका मिश्रा को रविवार देर शाम पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। अलका भाजपा महिला मोर्चा की नगर सचिव रहीं मालती शर्मा की हत्या में दोषी करार दी जा चुकी हैं। पार्षद रही अलका की मालती से सियासी वर्चस्व को लेकर अदावत थी। अदालत ने 9 दिसंबर को ही अलका को दोषी करार देते हुए गिरफ्तारी वारंट जारी किया था। सर्वोदय नगर में सात जून, 2004 को गुडंबा के कल्याणपुर निवासी मालती की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। मालती मूलरूप से जौनपुर की रहने वाली थीं।
गोमती नगर पुलिस ने सिपाही राजकुमार राय और अलका के करीबी रोहित यादव को गिरफ्तार कर हत्याकांड का खुलासा किया था। जांच में पता चला था कि मालती की हत्या की साजिश विकासनगर की तत्कालीन पार्षद अलका ने ही रची थी। दोनों ही उस वक्त भाजपा से जुड़ी हुई थीं। एसीपी गाजीपुर विजयराज के मुताबिक मामले में अलका जमानत पर थी। अदालत ने हत्याकांड में राजकुमार राय व अन्य को भी दोषी करार दिया है। लखनऊ पुलिस ने 2004 में बीजेपी नेता की हत्या के मामले में इंदिरा नगर मेट्रो स्टेशन के पास से एक पूर्व पार्षद अल्का मिश्रा को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तारी रविवार देर रात की गई। पूर्व पार्षद अलका मिश्रा पूर्व डीआईजी की पत्नी हैं। वह पुलिस हिरासत में थी लेकिन 9 दिसंबर को अदालत ने उसे हत्या का दोषी ठहराए जाने के बाद पुलिसकर्मियों को चकमा देने में सफल रही। इसके बाद उनके खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया गया था। अदालत आज करेगी सजा का एलान अलका मिश्रा पूर्व डीआईजी जेल पी.के.मिश्रा की पत्नी हैं। अलका 2004 में भाजपा नेता मालती शर्मा की हत्या की दोषी है। मालती शर्मा की 7 जून की रात को गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। उसका शव अगली सुबह सर्वोदय नगर इलाके में एक नाले के पास से बरामद किया गया था। उसे आखिरी बार कांस्टेबल राज कुमार राय के साथ देखा गया था, जिसे बाद में दिल्ली में गिरफ्तार कर लिया गया था। उसकी गवाही के आधार पर पुलिस ने प्रॉपर्टी डीलर दीपा सिंह और अलका मिश्रा को गिरफ्तार कर लिया।
राय पर हत्या का मामला दर्ज किया गया था, अलका मिश्रा और दीपा सिंह पर भारतीय दंड संहिता की धारा 120 (बी) के तहत मामला दर्ज किया गया था। अलका मिश्रा और मालती शर्मा राजनीतिक और व्यापारिक प्रतिद्वंद्वी थीं। पुलिस ने दावा किया कि, उनके पास इस बात के पुख्ता सबूत हैं कि राय हत्या की रात से ही मिश्रा के संपर्क में था और हत्या उसके इशारे पर की गई थी।सहायक पुलिस आयुक्त, गाजीपुर यानी (इंदिरानगर), विजय राज सिंह ने कहा कि स्थानीय अदालत ने 9 दिसंबर को मालती शर्मा की हत्या के मामले में चार अन्य लोगों के साथ अलका मिश्रा को दोषी ठहराया था। दोषी ठहराए जाने के बाद वो कोर्ट से भागने में सफल रही थी। जिसके बाद उसके नाम पर गैर जमानती वारंट जारी किया गया और हमने उसे गिरफ्तार कर लिया। उसे सोमवार को अदालत में पेश किया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here