Home आध्यात्म पांच हजार महिलाओं का होगा सुंदरकांड पाठ

पांच हजार महिलाओं का होगा सुंदरकांड पाठ

97
0

लखनऊ में सौ मंदिरों तक पहुंचा अभियान
लखनऊ 23 जुलाई। हम अभी लखनऊ के मंदिरो में सुन्दरकाण्ड पाठ करा रहे हैं। ‌इस मुहिम को हम पहले जिला, फिर राज्य स्तर पर बढ़ाते हुए अन्य राज्यों और विदेशाें तक इस मुहिम को ले जाएंगे। मार्च 2024 में पांच हजार महिलाओं के साथ महिला दिवस पर सामूहिक सुन्दरकाण्ड पाठ होगा।
इस बात की जानकारी ईश्वरीय स्वप्नशीष सेवा समिति की बैठक में रजनी सिंह ने दी। उन्होंने बताया कि
सपना गोयल की अगुवाई में विगत दो वर्षों से ईश्वरीय स्वप्नशीष सेवा समिति ‌के तत्वावधान में “सपना सुखी समाज का” के भाव से मंदिर -मंदिर सुन्दरकाण्ड पाठ का अभियान चलाया जा रहा है। इस अभियान को लेकर हुई बैठक में पुनीता भटनागर जैसी सेविकाओं के योगदान को सराहा गया। लखनऊ की सत्य सनातन नारी शक्ति लक्ष्मणपुरी की महिलाएं अलीगंज, इन्दिरानगर, गोमतीनगर, चिनहट, तेलीबाग, त्रिवेणीनगर,‌ आलमबाग, राजाजीपुरम आदि के मंदिरों में प्रत्येक मंगलवार सुन्दरकाण्ड पाठ करा रही हैं। पुनीता भटनागर ने बताया कि इस सेवा के लिए सपना गोयल के द्वारा मन्दिरों में ध्वज पताका, प्रसाद, आरती, बैनर आदि आवश्यक पूजन सामग्री भी उपलब्ध करायी जा रही है।
ध्वज वाहिका सपना गोयल ने बताया कि जिसकी तैयारी के लिए आज की इस सनातन धर्म गोष्ठी का आयोजन किया गया है। रीता सिन्हा ने महिलाएं का स्वागत करते हुए अपनी अपनी कालोनी में सुन्दरकाण्ड पाठ करने के लिए सभी को बैनर आदि आवश्यक पूजन सामग्री वितरित किया। रागिनी श्रीवास्तव ने कहा कि नारी शक्ति को आगे आकर सनातन धर्म को आगे बढ़ाने में सहयोग करना चाहिए, क्योंकि वही घर को चलाती है। उससे ही बच्चों में संस्कार स्थापित होते है‌। सपना गोयल जी ने कहा कि
धर्म जागरण अभियान में अपना योगदान देना ही होगा। सत्य सनातन नारी शक्ति के सहयोग से सभी हिंदू जन मानस अपने अपने स्थानीय मंदिरों पर एकत्र होकर हर मंगलवार सुंदरकाण्ड पाठ करें, ताकि हमारे समाज में एक नियम बने और हमारी भावी पीढ़िया भी धर्म के महत्व को समझें। इससे ही देश की सभ्यता और संस्कृति का पुनरुत्थान होगा।
सपना गोयल ने आह्वान कर 51 महिला सनातन ध्वज वाहिकाओं को कार्य सौंपे हैं। उनकी सभी शक्ति पीठ बहिनें निरंतर धर्म सेवा में कार्य संलग्न हैं। हमारा उद्देश्य लखनऊ को लक्ष्मणपुरी की आध्यात्मिक पहचान और सनातन धर्म के पुनरुत्थान की है, ताकि सनातन धर्म प्रेमी आगे आएं और युवाओ को लेकर आगे बढ़ें।‌ समिति और सपना गोयल द्वारा अमरनाथ यात्रा व लखनऊ में समय-समय पर भण्डारे आयोजित होते हैं और खण्डित मन्दिरों का पुनर्निर्माण भी किया जाता है। इस अवसर पर रेनू वर्मा ने सभी को तुलसी, नीम, बरगद, पीपल की पौध वितरित की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here