Home न्यूज नृत्यगतियों में हुए ग्वाल-बाल संग राधा- कृष्ण के दर्शन 

नृत्यगतियों में हुए ग्वाल-बाल संग राधा- कृष्ण के दर्शन 

137
0

अनेक विभूतियां उड़ान कला रत्न से सम्मानित

लखनऊ , 17 अगस्त 2022। आई रे आई जन्माष्टमी आई, जनम लियो है आज कृष्ण कन्हैया और जन्माष्टमी का दिन लागे बड़ा प्यारा… जैसे श्रीकृष्ण भक्ति से परिपूर्ण गीतों पर जब बाल कलाकारों ने भगवान श्रीकृष्ण, राधारानी और गोपियों का रूप धारण कर भावपूर्ण अभिनययुक्त नृत्य प्रस्तुत किया तो उपास्थित लोग भावविभोर हो झूम उठे। यह मनोरम दृश्य था सामाजिक एवं सांस्कृतिक संस्था उड़ान के तत्वावधान में उत्तर प्रदेश उर्दू अकादमी के प्रेक्षागृह में आजादी का अमृत महोत्सव और जन्माष्टमी के उपलक्ष्य में आयोजित सांस्कृतिक कार्यक्रम का।

भगवान श्रीकृष्ण को समर्पित इस कार्यक्रम का शुभारम्भ मुख्य अभ्यागत पद्मश्री डॉ विद्या बिन्दु सिंह और मुख्य अतिथि रजत कॉलेज के चेयरमैन आर.जे. सिंह चौहान और लोक नृत्यांगना सरिता सिंह ने दीप प्रज्जवलित कर किया। इस अवसर पर आयुषी पांडे (लोक गायिका), अलका ठाकुर (बांसुरी वादक), मोहित कपूर (लोक नर्तक), मंजू मलकानी (कथक नृत्यांगना), दया चतुर्वेदी (लोक गायिका) को उड़ान कला रत्न सम्मान से सम्मानित किया गया।

भक्ति संगीत से सजे कार्यक्रम का श्री गणेश स्वरा त्रिपाठी ने गणेश वंदना पर भाव नृत्य से किया। इसी क्रम में हर्षवर्धन तिवारी ( श्री कृष्ण), अग्रिमा पाठक (राधा), रुद्राक्ष जयसवाल, दिव्यांश तिवारी, मोहान्सी गुप्ता, सृष्टि कुमारी, आर्य पटेल, जया पांडे, आम्या, श्रेया सिंह पटेल, मिस्टी केसरवानी, परी पांडे, रितिका यादव, श्रेया रंजन, अहाना सागर, स्वरा त्रिपाठी, आरना जयसवाल और ऋषि श्रीवास्तव ( ग्वालबाल-गोपियां) ने मेरी लगी श्याम संग प्रीत की दुनियां क्या जाने पर आकर्षक नृत्य प्रस्तुत कर दर्शकों को भाव विभोर कर दिया।

हृदय को हर्षातिरेक से भर देने वाली इस प्रस्तुति के उपरान्त रितिका शाह ( अधिवक्ता), परी बलेचा (न्यूज़ एंकर), मयंक सिंह (मंत्री), मीठी यादव व कियारा (झांसी की रानी), कृतिका पांडे (मोदी), अरिन वर्मा (भगत सिंह), रचित जायसवाल (जवाहरलाल नेहरू), प्रयाग आनंद ( विधायक), श्रेयांश यादव (चंद्रशेखर आजाद) ने अपने उत्कृष्ट अभिनय और प्रभावशाली संवादों से आजादी के अमृत महोत्सव कार्यक्रम को यादगार बनाया। कार्यक्रम में प्रियंवदा पान्डेय ने अपनी खनकती हुई आवाज में बड़ा नटखट है ये कृष्ण कन्हैया जैसे अन्य भक्ति गीतों को सुना कर श्रोताओं को मंत्र मुग्ध कर दिया। धन्यवाद ज्ञापन सरिता सिंह ने दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here