Home न्यूज गीत व नृत्य में मां भगवती दुर्गा व राम की महिमा मुखरित...

गीत व नृत्य में मां भगवती दुर्गा व राम की महिमा मुखरित हुई

74
0

लखनऊ, 10 अप्रैल 2024। तुलसी शोध संस्थान उत्तर प्रदेश अन्तर्गत श्री राम लीला समिति ऐशबाग के तत्वावधान में श्री राम लीला परिसर तुलसी रंगमंच पर चल रहे दस दिवसीय भारतीय नववर्ष मेला एवं चैती महोत्सव-2024 की आज दूसरी संध्या में गीत व नृत्य में मां भगवती दुर्गा व राम की महिमा मुखरित हुई।

इसके पूर्व भारतीय नववर्ष मेला एवं चैती महोत्सव-2024 की द्वितीय संध्या का शुभारंभ सचिव पं आदित्य द्विवेदी और अध्यक्ष हरीश चन्द्र अग्रवाल ने दीप प्रज्जवलित कर किया। इस अवसर पर प्रमोद अग्रवाल, मयंक रंजन सहित अन्य गणमान्य व्यक्तियों के अलावा तमाम दर्शक उपस्थित थे।

आज की सांस्कृतिक सांझ का शुभारंभ बाल निकुंज गर्ल्स एकेडमी की छात्राओं पूर्वी मिश्रा, अनमिका सिंह, प्राची तिवारी, साक्षी यादव, गरिमा पांडेय, मोनिका, जान्वी वर्मा, रचित मिश्रा, प्रिंसी वर्मा और श्वेता चौरसिया ने प्रवीन यादव के निर्देशन में भजन  ‘ जिस भजन में राम का नाम न हो ‘ को सुनाकर सम्पूर्ण परिवेश को राममय बना दिया।

इसी क्रम में वंशिका यादव, जान्वी गौतम, शुभु पांडेय, पलक सिंह और रिद्धि मिश्रा ने आई गिरि नन्दिनी पर आकर्षक नृत्य प्रस्तुत कर दर्शकों को भगवती देवी दुर्गा के दर्शन अपने नयनाभिराम अभिनय युक्त नृत्य से करवाए। अगली प्रस्तुतियों में शिवा सिंह के निर्देशन में विद्यालय के छात्र छात्राओं ने हर हर शंभू पर योग कला के जरिये लोगों को अध्यात्मिक और शारिरीक रूप से स्वस्थ्य रहने पर बल दिया।

मन को मोह लेने वाली इस प्रस्तुति के उपरान्त विक्की राज के नृत्य निर्देशन में वर्व डांस स्टूडियो के कलाकारों ने अनेक भक्ती गीतों पर आकर्षक नृत्य प्रस्तुत कर दर्शकों को भाव विभोर कर दिया। इस अवसर पर जादूगर शशांक ने अपने जादुई करतबों से दर्शकों को रोमांचित कर दिया।

मन को मोह लेने वाली इस प्रस्तुति के उपरान्त लोक गायिका वन्दना शुक्ला ने संस्कार गीतों की रस सरिता प्रवाहित की। वन्दना ने अपने कार्यक्रम की शुरुआत देवीगीत मोहिनी भवानी भवानी महारानी री माया से कर श्रोताओं को भगवती देवी दुर्गा की भक्ति का रसापान कराया। इसी क्रम में वन्दना ने अपनी खनकती हुई आवाज में राम जनम सोहर चैतहि के तिथि और बाजत अवध बधाईयां, राम जनम बधाई गीत बधाइया बाजे आंगने मा को सुनाकर श्रोताओं को राम की भक्ति के सागर में आकन्ठ डुबोया। इसके अलावा वन्दना शुक्ला ने अपनी सुमधुर आवाज में चैती, कजरी, मेला गीत और नकटा को सुनाकर श्रोताओं का दिल जीता, इन्ही गीतों पर अनमिका यादव, शची द्विवेदी, कशिश मल्होत्रा और सुप्रिया तिवारी ने भावपूर्ण नृत्य प्रस्तुत कर दर्शकों का दिल जीत लिया। कार्यक्रम के आकर्षण का केन्द्र बिन्दु भास्कर बोस के निर्देशन में नाटक कथा वैद्यनाथ धाम का मंचन किया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here