Home न्यूज गम्भीर हालत में पहुंचे मरीज को सहारा हॉस्पिटल में मिला जीवन दान

गम्भीर हालत में पहुंचे मरीज को सहारा हॉस्पिटल में मिला जीवन दान

94
0

लखनऊ : आजमगढ़ निवासी 19 वर्षीय अंशुमान को लगभग दो महीने पहले बुखार के साथ में सांस लेने में तकलीफ़ होने लगी। उनको यूरिन भी नहीं हो रहा था। इस पर उन्होंने मऊ जिले में एक अस्पताल में दिखाया तो डॉक्टर ने उनको तुरंत भर्ती किया, कुछ जांचे करवायी लेकिन मर्ज न पकड़ पाने पर मरीज को आजमगढ़ के एक प्राइवेट हॉस्पिटल भेज दिया। वहां पर भी आराम न मिलने पर उन्हें डॉक्टर ने लखनऊ रेफर कर दिया। मरीज ने एक परिचित की सलाह पर गोमतीनगर स्थित सहारा हॉस्पिटल में इलाज करवाने का निश्चय किया। जब उन्हें इलाज के लिए सहारा हॉस्पिटल लाया जा रहा था तो रास्ते में उनकी हालत गम्भीर होने लगी और सांस लेने में ज्यादा कठिनाई होने लगी‌। सहारा हॉस्पिटल की इमरजेंसी में भर्ती होने पर मरीज में डेंगू के लक्षण मिले और ऑक्सीजन का स्तर काफी कम था। मरीज की जांचों से पता चला कि उसका क्रिएटनीन 9.8 था और किडनी काम नहीं कर रही थी मरीज को उल्टियां लगातार हो रही थी और यूरिन नहीं हो रही थी।

सहारा हॉस्पिटल की इमरजेंसी में इंटरनल मेडिसिन के सीनियर कंसलटेंट डॉक्टर सुनील वर्मा ने मरीज का इलाज शुरू किया। मरीज का इलाज आईसीयू (क्रिटिकल केयर) में लगभग 10 दिन तक सम्पूर्ण देखभाल के साथ किया गया । मरीज का हीमोग्लोबिन 2.2 था। हॉस्पिटल में भर्ती के दौरान उसका प्लाज्मा फेरेसिस हुआ और उसको 48 यूनिट एफ एफ पी और 8 यूनिट पी आर बी सी चढ़ाया गया, लगभग डेढ़ महीने भर्ती रहने के दौरान मरीज की कई बार डायलिसिस भी हुई ।
लगभग डेढ़ महीने चले इलाज के बाद अब मरीज का क्रिएटनीन 0.7 आ गया और हीमोग्लोबिन भी 11.9 हो गया। किडनी अब ठीक से काम करने लगी है और ऑक्सीजन का स्तर भी ठीक हो गया है । इस सफल इलाज के लिए मरीज एवं उनके परिजनों ने हॉस्पिटल के इंटरनल मेडिसिन विभाग के डॉक्टर सुनील वर्मा का धन्यवाद किया और सुविधाओं के लिए हॉस्पिटल मैनेजमेंट के प्रति आभार जताया।

मरीज के सफल इलाज में सहारा हॉस्पिटल के ब्लड बैंक के हेड डॉक्टर अरविंद सिंह एवं ब्लड बैंक के टेक्नीशियन डेविड एवं सहारा हॉस्पिटल के नेफ्रोलॉजिस्ट डॉक्टर शोमित सिंह एवं हेमेटोलॉजिस्ट डॉक्टर मोना का योगदान सराहनीय रहा। सभी के सामूहिक प्रयास से मरीज के इलाज में सफलता मिली।
सहारा इंडिया परिवार के वरिष्ठ सलाहकार अनिल विक्रम सिंह ने बताया कि सम्पूर्ण उत्तर भारत से लेकर नेपाल, बिहार तक के मरीज सहारा हॉस्पिटल में इलाज के लिए आते हैं। हमारे अभिभावक “सहाराश्री” जी के मार्गदर्शन में सहारा हॉस्पिटल की समस्त टीम सेवा भाव से समर्पित होकर मरीजों को इलाज देने के लिए 24 घंटे कुशल डॉक्टर्स टीम अत्याधुनिक उपकरणों के साथ सेवाएं देने के लिए सदैव तैयार रहती है। श्री सिंह ने बताया कि हमारे अभिभावक द्वारा प्रदत्त सहारा हॉस्पिटल उत्तर प्रदेश के उत्कृष्ट हॉस्पिटलों में से एक है जो हर वर्ग को स्वास्थ्य सेवाएं देकर अपनी स्वास्थ्य सम्बंधित सामाजिक दायित्व को पूर्ण करने की दिशा में अग्रसर है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here