Home न्यूज काकोरी शहीद स्मारक से विधानसभा तक निकाली गई तिरंगा यात्रा

काकोरी शहीद स्मारक से विधानसभा तक निकाली गई तिरंगा यात्रा

128
0

13/08/2022, दिन शनिवार

केंद्रीय राज्य मंत्री कौशल किशोर जी के नेतृत्व में काकोरी शहीद स्मारक से विधानसभा तक निकाली गई तिरंगा यात्रा/ 22 किलो मीटर की तिरंगा यात्रा में 7 किलो मीटर तक मोटरसाइकिल का काफिला और 15000 से ज्यादा मोटरसाइकिलों से 30000 से ज्यादा लोग हुए सम्मिलित

लखनऊ।
आजादी का अमृत महोत्सव के उपलक्ष्य में 13 अगस्त से 15 अगस्त तक मनाए जा रहे हर घर तिरंगा अभियान के तहत केंद्रीय राज्यमंत्री कौशल किशोर जी के नेतृत्व में काकोरी शहीद स्मारक से जीपीओ कोर्ट निकट विधानसभा तक तिरंगा यात्रा निकाली गई। तिरंगा यात्रा में 15 हजार से ज्यादा मोटरसाइकिल में हांथ से तिरंगा फहराते हुए पूरे जोश के साथ भारत माता की जय, वंदे मातरम का जयघोष करते हुए काकोरी शहीद स्मारक से 15 हजार से ज्यादा मोटरसाइकिल से 30000 से ज्यादा लोगो की यह तिरंगा यात्रा चौक, इमामबाड़ा, पक्का पुल, बुद्धा पार्क, परिवर्तन चौक होते हुए अटल चौक के रास्ते से जीपीओ कोर्ट निकट विधानसभा पंहुची जहां जीपीओ कोर्ट स्थित काकोरी स्तंभ में केंद्रीय राज्यमंत्री कौशल किशोर ने शहीदों को पुष्प अर्पित कर तिरंगा यात्रा का समापन किया। इस तिरंगा यात्रा में किसान, मजदूर, युवा, महिलाओं व हिंदू, मुस्लिम, सिक्ख समेत सभी धर्मो और सभी समाज के लोग सम्मिलित रहे, इस तिरंगा यात्रा में मोहनलालगंज लोकसभा की पांचों विधानसभा के लोगों ने बढ़चढकर हिस्सा लिया और रिकॉर्ड 15000 से ज्यादा मोटरसाइकिलों से 30000 से ज्यादा लोगो ने 22 किलोमीटर तक की तिरंगा यात्रा निकाली इस तिरंगा यात्रा की अगुवाई कर रहे केंद्रीय राज्य मंत्री कौशल किशोर जी ने काकोरी शहीद स्मारक तक मोटरसाइकिल में बीकेटी विधानसभा से विधायक योगेश शुक्ला जी को बैठालकर यात्रा की फिर मलिहाबाद विधानसभा से दूसरी बार विधायक जय देवी कौशल जी को अपने साथ मोटरसाइकिल में बैठालकर जीपीओ कोर्ट निकट विधानसभा तक तिरंगा यात्रा की अगुवाई की। तिरंगा यात्रा का नेतृत्व कर रहे केंद्रीय राज्य मंत्री कौशल किशोर ने कहा कि काकोरी शहीद स्मारक 9 अगस्त 1925 को हुए काकोरी कांड की याद में बनाया गया था। अंग्रेजो से भारत को आजाद कराने में काकोरी घटना का महत्वपूर्ण योगदान रहा और जीपीओ कोर्ट, लखनऊ में काकोरी काण्ड का मुकदमा चला था और इसका फैसला भी विधानसभा निकट जीपीओ कोर्ट में सुनाया गया था, इसलिए काकोरी शहीद स्मारक से जीपीओ कोर्ट निकट विधानसभा तक तिरंगा यात्रा निकालकर हमारे देश को अंग्रेजों से आजाद कराने में महान क्रांतिकारियों के अमर बलिदान को याद किया गया, कौशल किशोर ने बताया जीपीओ कोर्ट में अंग्रेजो का रिंक थियेटर था जहां पर अंग्रेजो की एक विशेष अदालत में उन देशभक्त वीरों पर मुकदमा चलाया गया जिन्होंने 9 अगस्त 1925 ईस्वी को काकोरी के पास जा रही रेलगाड़ी से सरकारी खजाने को छीन कर अंग्रेजी सत्ता को चुनौती दी थी यह सभी क्रांतिकारी उस समय देश की विख्यात क्रांतिकारी संस्था “हिंदुस्तान रिपब्लिकन एसोसिएशन” के सदस्य थे। काकोरी कांड में अमर शहीद रामप्रसाद बिस्मिल जी, अशफाक उल्ला खां, ठाकुर रोशन सिंह, राजेंद्र नाथ लाहड़ी, चंद्रशेखर आजाद (फरार घोषित) को फांसी की सजा सुनाई गई और सचिन नाथ सान्याल, योगेश चंद्र चटर्जी, रामकृष्ण खत्री, रामकुमार सिन्हा समेत 16 अन्य वीर क्रांतिकारियों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई थी, कौशल किशोर जी ने बैरिस्टर बी के चौधरी कलकत्ता, गोविंद बल्लभ पंत, चंद्रभानु गुप्ता, मोहनलाल सक्सेना, के. एस. हजेला का भी जिक्र किया जिन्होंने अभियुक्त क्रांतिकारियों की निशुल्क पैरवी की थी। कौशल किशोर ने कहा सदियों पहले भारत विश्व गुरु हुआ करता था और एक बार फिर आदरणीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में भारत विश्व गुरु बनने की राह पर है। कौशल किशोर ने कहा भारत देश अपनी आज़ादी की 75वीं वर्षगांठ पर जहां पूरा देश एकजुट होकर आजादी के अमृत महोत्सव के इस जश्न को मना रहा है इसलिए आज संपूर्ण विश्व की निगाहे भारत पर टिकी हुई हैं। केंद्रीय राज्य मंत्री कौशल किशोर ने कहा हमारा राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा हमारी शान है आजादी के इस अमृतकाल में दलगल राजनीति से ऊपर उठकर सभी पार्टी और सभी धर्म समाज के लोगो को 13 से 15 अगस्त के बीच अपने घरों और प्रतिष्ठानों पर तिरंगा फहराकर देश की एकता और अखंडता का परिचय देना है। केंद्रीय राज्य मंत्री कौशल किशोर ने कहा आदरणीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी तमाम योजनाओं के माध्यम से समाज के अंतिम व्यक्ति हर वर्ग हर समाज के गरीब को सशक्त करने का कार्य कर रहे हैं, प्रधानमंत्री बनने के बाद उन्होंने मेक इन इंडिया और आत्मनिर्भर भारत बनने का नारा दिया, कौशल किशोर ने सभी युवाओं से आह्वान करते हुए कहा कि वह आदरणीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी का साथ देते हुए मेक इन इंडिया और आत्मनिर्भर भारत निर्माण में अपना योगदान सुनिश्चित करें निश्चित ही जल्द हमारा भारत फिर से विश्व गुरु होगा। इस तिरंगा यात्रा में केंद्रीय राज्य मंत्री कौशल किशोर, विधायक बीकेटी योगेश शुक्ला, विधायक मलिहाबाद जय देवी कौशल, विधायक मोहनलालगंज अमरेश कुमार, बीकेटी चेयरमैन अरुण सिंह गप्पू, सांसद प्रतिनिधि प्रवीण अवस्थी, अनीता रावत, क्षेत्रीय उपाध्यक्ष अनुसूचित मोर्चा अवध विकास किशोर, जितेंद्र रावत, ब्लॉक प्रमुख प्रतिनिधि मीनू रावत, ब्लॉक प्रमुख रामकुमार राही, ब्लाक प्रमुख निर्मल वर्मा, ब्लाक प्रमुख डिंपल वर्मा, नविता द्विवेदी जी ज्योति श्रीवास्तव जी दिलप्रीत सिंह रॉबिन, मनमोहन रावत, मोनू रावत, राहुल राठौर, सोनू गौर ,सूरज रावत ,सिधार्थ पांडेय डम्पी ,प्रवीण तिवारी , विशाल तिवारी , पिंटू तिवारी , मोनु ठाकुर ,रिंकु पांडेय अरविंद चौबे,मनोज सिंह ,अनिता रावत, प्रभात किशोर जैकी, गोपी राजपूत, लवकुश यादव, आशीष रावत आलमनगर, सौरभ रावत, अजय प्रधान, रमेश पूर्व प्रधान, सूरज कनौजिया, अमरेंद्र रावत अंकुर, संजीव मिश्रा, सत्येंद्र रावत, शिव हरि द्विवेदी नामित पार्षद, विनय श्रीवास्तव, प्रधान प्रतिनिधि भलिया ज्ञान सिंह, मनीष रावत, रामराज यादव, अखिलेश रावत, मंडल अध्यक्ष काकोरी रवि राज लोधी, अमन बंसल ब्रावो, मंडल अध्यक्ष माल देवेंद्र सिंह, मंडल अध्यक्ष जितेंद्र अवस्थी, मोहम्मद आजाद, शमीम भाई, राजू रावत, मिथिलेश प्रधान नवीन यादव प्रधान, रविंदर रावत, प्रधान सिराज अहमद नूर हसन मजहर अब्बास रिजवी, कतिंघरा प्रधान पप्पू, सर्वेश प्रधान, अरविंद यादव प्रधान, अंजू सिंह प्रधान अरुण सिंह प्रधान, मोहम्मद शमीम, बबलू यादव, सत्येंद्र रावत, भाजपा अनुसूचित मोर्चा जिला मीडिया प्रभारी रितेश राय, राहुल चच्चा, अक्षय सिंह सतीश रावत, अनूप गुप्ता मंडल अध्यक्ष वीरेंद्र प्रताप सिंह वीरू, रोशन मिश्रा, अजय रावत रसूलपुर व पार्टी पदाधिकारियों समेत 30000 से ज्यादा लोग जिसमे किसान, मजदूर, युवा, छात्र, महिला और सभी धर्म एवं समाज के लोग सम्मिलित हुए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here