Home न्यूज कनेक्शन वर्ल्डवाइड ग्रुप द्वारा मेरे पहले प्यार की खुशबू प्रतियोगिता आयोजित

कनेक्शन वर्ल्डवाइड ग्रुप द्वारा मेरे पहले प्यार की खुशबू प्रतियोगिता आयोजित

120
0

लखनऊ कनेक्शन वर्ल्डवाइड ग्रुप द्वारा सदस्यों की मांग पर और उनकी साहित्यिक अभिरुचि को ध्यान में रखते हुए एक ऑनलाइन कहानी/कविता प्रतियोगिता आयोजित की।इसका विषय था “मेरे पहले प्यार की खुशबू….”।विषय का चयन इस बात को ध्यान में रखते हुए किया गया कि इसमें हर उम्र के लोग भाग ले सकें।इस प्रतियोगिता की परिकल्पना सुदूर कनाडा में बैठे ग्रुप के वरिष्ठ सदस्य,श्री अनिल शुक्ला जी ने की और इस कार्यक्रम के क्रियान्वयन में शोएब कुरेशी, राजीव कुमार सक्सेना,डॉ शोभा बाजपेयी,विनीता मिश्रा,ध्रुव खरे,रश्मि मिश्रा ने सहयोग किया।इस प्रतियोगिता में भारत के विभिन्न शहरों के अलावा विदेश जैसे मिडिल ईस्ट,यूरोप,कनाडा,अमरीका में रहने वाले 30 सदस्यों ने भाग लिया और अपनी श्रेष्ठ रचनाएं प्रेषित कीं।इनको परखने का कार्य तीन प्रतिभासम्पन्न निर्णायक मंडल ने किया जिसमें श्रीमती विनीता मिश्रा,रघोत्तम शुक्ला एवं डॉ अर्चना श्रीवास्तव शामिल थे।
निर्णायक मंडल के निर्णय के अनुसार श्री विष्णु स्वरूप “पंकज” स्मृति प्रथम पुरस्कार श्रीमती ज्योत्स्ना सिंह को प्रदान किया गया।श्री महेंद्र कुमार सिंह स्मृति द्वितीय पुरस्कार श्रीमती नीलम सिंह एवम श्रीमती अंशुल अवस्थी को संयुक्त रूप से प्रदान किया गया।तृतीय पुरस्कार श्रीमती नेहा वर्तिका,श्री मृदुल शुक्ला एवं श्री प्रेमेंद्र श्रीवास्तव को संयुक्त रूप से प्रदान किया गया।इसके अतिरिक्त कहानी एवं कविता के लिए डॉ जगदीश प्रसाद श्रीवास्तव “अतृप्त” CRITICS AWARD भी प्रदान किये गए।इसमें कहानी के लिए डॉ मंजरी शुक्ला,हिंदी कविता के लिए डॉ भक्ति शुक्ला एवं अंग्रेजी कविता के लिए डॉ शोभा बाजपेयी को प्रदान किये गए।
पर्यावरण हेतु जागरूकता फैलाने के उद्देश्य से चैतन्य वेलफेयर फाउंडेशन द्वारा डॉ संजना मिश्रा,राजीव कुमार सक्सेना,चंद्र शेखर वर्मा,रश्मि मिश्रा,ध्रुव खरे,अर्चना शुक्ला को उपहार दिए गए।
इसके अतिरिक्त प्रतियोगिता में भाग लेने वाले सभी प्रतियोगियों को ग्रुप के संस्थापक सुनील मिश्रा द्वारा प्रमाण पत्र प्रदान किये गए।
कार्यक्रम के मुख्य अतिथि लोकप्रिय शायर और लेखक मनीष शुक्ला थे।इस अवसर पर ग्रुप के संस्थापक सुनील मिश्रा जी ने बताया कि ये ग्रुप लगभग ढाई वर्ष पूर्ण कर चुका है और इसमें 43000 से अधिक ऐसे सदस्य शामिल हैं जो लखनऊ से संबंधित हैं और अब लखनऊ में ही नही देश के अन्य शहरों में और विदेश में 100 देशों में रह रहे हैं।ग्रुप का उद्देश्य लखनऊ वालों को जोड़ना एवं लखनऊ की कला संस्कृति को संजोना और संवारना है।इसके लिए ये ग्रुप के ऑनलाइन कार्यक्रम आयोजित कर रहा है।जिसमें महफ़िल, परपंचु,पुस्तकमाला,अवध के व्यंजन,अंताक्षरी ,एक मुलाकात आदि हैं।इसी कड़ी में अनेक प्रतियोगिताएं भी समय समय पर आयोजित की जाती हैं।
मुख्य अतिथि मनीष शुक्ला ने कहा कि लखनऊ में हर क्षेत्र में प्रतिभाओं की कमी नही है।इस तरह के आयोजन से लोगों में कुछ नया करने की इच्छा जागेगी।उन्होंने ग्रुप के इस प्रयास की सराहना की।
कार्यक्रम का संचालन ग्रुप के वरिष्ठ सदस्य राजीव कुमार सक्सेना ने किया।पुरस्कार वितरण श्री चंद्र शेखर वर्मा ने सम्पन्न कराया।इस अवसर पर अनेक गणमान्य अतिथि ध्रुव खरे,डॉ शोभा बाजपेयी,नीरजा शुक्ला,नेहा वर्तिका,सविता चौधरी,रश्मि मिश्रा,अर्चना शुक्ला ,ज्योति किरण आदि उपस्थित थे।
कार्यक्रम के अंत में श्रीमती विनीता मिश्रा ने मुख्य अतिथि,ग्रुप के संस्थापक सुनील मिश्रा एवं अन्य गणमान्य अतिथियों का आभार व्यक्त किया। इस कार्यक्रम में स्वैच्छिक रूप से सहयोग देने हेतु श्री राजीव सक्सेना,श्री रवि प्रकाश सिंह,श्रीमती अन्विता मनीष एवं श्रीमती ओम सिंह का आभार व्यक्त किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here