Home आध्यात्म आदिगंगा गोमती को स्वच्छ व निर्मल बनाए रखने की अनूठी पहल

आदिगंगा गोमती को स्वच्छ व निर्मल बनाए रखने की अनूठी पहल

143
0

हेमन्त शुक्ल

आदिगंगा गोमती, उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ की जीवन रेखा है। इसलिए आवश्यक है कि गोमती अविरल और निर्मल बनी रहे। “लोकभारती” ने इस विषय को आज से डेढ़ दशक पहले समझा और 2008 तथा 2010 में गोमती को ठीक से समझने और सामाजिक जागरूकता हेतु गोमती उद्गमस्थल पीलीभीत जिले की फुलहर झील से वाराणसी में गोमती- गंगा मिलन स्थल कैथी घाट तक दो बार अध्ययन यात्रा का आयोजन किया जिसके परिणाम स्वरूप गोमती के प्रवाह क्षेत्र के 13 जिलों में 33 स्थानों पर गोमती मित्र मंडलों का गठन हुआ और उनके माध्यम से स्थान-स्थान पर गोमती घाट पर स्वच्छता, सौंदर्यीकरण, वृक्षारोपण सहित गोमती के पानलोट (कैचमेंट) क्षेत्र में वर्षा जल भंडारण हेतु तालाबों के पुनरुद्धार और भूजल रीचार्ज के साथ ही पानी की खपत को कम करने हेतु गौ आधारित प्राकृतिक खेती पर व्यापक कार्य प्रारम्भ हुआ, जो निरन्तर चल रहा है और उसके कारण गोमती में सुधार भी हुआ है।
परन्तु लखनऊ नगर में गोमती की स्थित भिन्न है। यहाँ 27 नाले गोमती में निरन्तर गिर रहे हैं। एस टी पी होने के बाद भी गोमती निरन्तर प्रदूषित बनी हुई है। पहले लखनऊ में जिस गोमती में जगह-जगह लोग स्नान करते थे, अब प्रदूषण के कारण वह परम्परा बंद होने लगी।
अतः लोकभारती ने आज से 4 माह पूर्व विचार पूर्वक निर्णय लिया कि पहले चरण में लखनऊ के पहले घाट गौ घाट को कार्तिक पूर्णिमा तक स्नान योग्य बनाया जाए। तब से निरन्तर 21 रविवार से प्रातः 6-30 बजे नियमित लोकभारती की एक टोली घाट की स्वच्छता एवं सुव्यवस्था हेतु कार्यरत है। इस अभियान के कारण गौ घाट पर स्थानीय समाज के साथ ही वन मंत्री, प्रदेश के मुख्य सचिव, मेयर, नगर आयुक्त एवं जिलाधिकारी सहित अनेक वरिष्ठजन सहयोगी के रूप में रहे हैं। इस घाट से पहले गोमती में कैटल कालोनी नाला मिलता है जिसे डाइवर्ट कर एस टी पी में ले जाने की परियोजना पर कार्य हो रहा है। इसके बाद भी समाज की जागरुकता ने घाट को स्वच्छ बनाया जिससे आज मंगलवार कार्तिक पूर्णिमा के अवसर पर गौ घाट पर हजारों महिला पुरुषों ने गोमती में स्नान कर य़ह संकेत दे दिया है कि लखनऊ में सम्पूर्ण गोमती स्वच्छ होगी और सभी घाट स्नान योग्य बनेंगे। इस अनूठे प्रयास से नागरिकों ने आज महसूस किया कि गोमती को स्वच्छ व निर्मल बनाने का अभियान अपने लक्ष्यपूर्ति तक निरन्तर चलता रहेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here